दोस्ती

कमाल है ये दोस्ती,
दोस्त भी कमाल है,
जब मिले तो झगड़ लिए,
मिले नहीं तो बेहाल है,
ख़ुशी में खुश हो रो पड़े,
गम को भी संभाल दे,
कभी प्यार से दें गालियां,
कभी गालियों से प्यार दें,
कभी हार को जिताएं ये,
कभी जीत को भी मात दें,
बिन कहे ही सब कुछ कह सकें,
कहकर भी सब छुपाये ये,
ये जो साथ हैं तो जिन्दंगी,
लगती बेमिसाल है,
कमाल है ये दोस्ती,
दोस्त भी कमाल है।