आओ सफल जीवन कर जाएँ

रक्त समर्पण है, जीवन है,
रक्त कीमती मानव धन है,
अपने अमूल्य इस जीवन धन से, अपने जीवन का मूल्य बढ़ाएं,
आओ सफल जीवन कर जाएँ

यूँ हर रंग अलग हर जन में,
पर रक्त रंग एक हम सब में,
जब भेद नहीं प्रकृति का कोई, तो क्यूँ हम न हर भेद मिटायें,
आओ सफल जीवन कर जाएँ

होते यूँ दान के चार प्रकार,
औषधि, शास्त्र, अभय, आहार,
अपने इस दान से आज सभी को नए दान का अर्थ बताएं,
आओ सफल जीवन कर जाएँ

4 thoughts on “आओ सफल जीवन कर जाएँ

  1. जब भेद नहीं प्रकृति का कोई, तो क्यूँ हम न हर भेद मिटायें….रक्तदान का महत्व अत्यंत सुन्दर ढंग से प्रस्तुत किया है कविता में…जितना रक्तदान का विषय मेरे करीब है क्योंकि जीवन है …..उतने ही तुम और तुम्हारी लेखनी . उम्मीद से कहीं ज्यादा …और दिल के बहुत नजदीक. लेखक के लिए किसी खास विषय पर लिखना मुश्किल होता क्योंकि विचारों को बंधना पड़ता है …अति सुन्दर ! विश्व रक्तादाता दिवस पर तुमने जब स्वयं ये कविता सुनाई तो उसमें चार चाँद लग गए !

    Like

    1. thanks a lot ma’am for such beautiful words. This time you were the soul inspiration of my writing. Thanks for inspiring me to write on such a different and meaningful subject..

      Like

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  Change )

Connecting to %s